पद्मासन करने का तरीका और फायदे (Padmasasna)

पद्मासन  (Padmasana)


नमस्कार दोस्तों

दोस्तों आज हम बात करने वाले है पद्मासन के बारे में जो एक बहुत ही महत्वपूर्ण योग मुद्रा है। पद्मासन का नाम पद्मम पर रखा गया है जिसका मतलब होता है कमल का फूल। जब भी कोई ऋषि मुनि बैठ कर ध्यान लगता है या कोई योग करता है तो वह पद्मासन मुद्रा में बैठ कर करता है।  पद्मासन में बैठना अपनी टांग और कुहले के लिए बहुत लाभदायक होता है। और विद्वानों का मानना है की अगर आप पद्मासन में हमेशा बैठते है तो आप अनेक विकारों को दूर कर सकते है.
image source google

पद्मासन करने का तरीका :-


1. पद्मासन में बैठने  के लिए सबसे पहले आप एक साफ़ सुथरी जगह का चयन करें और आसन लगाएं।
2. आसन पर बैठ जाए और लम्बी गहरी साँस ले और अपनी आँखे बंद करलें।
3. अब अपने बाए पैर को दाए पैर की झाँग पर रखें।
4. इसी प्रकार दूसरे पैर को भी इसी प्रकार रखें।
5. ऐसा करने से आपके पैरो और कुहले में खिचाव आएगा।
6. अब आप पद्मासन की अवस्था में है।

पद्मासन के फायदे :-


1. पैरो और कुहले के जोड़ों को लचीलापन प्रदान करता है।

2. पद्मासन पाचन क्रिया में सहायता करता है।

3. मन को शांति प्रदान करता है।

4. पद्मासन गर्भवती महिलाओं के प्रसव में सहायता करता है।

5. पद्मासन में बैठने से घुटनों के दर्द से आराम मिलता है।

6. जिनके पेरो में सूजन आती हो पद्मासन बहुत लाभदायक है

Comments