अर्ध तितली आसन ( ARDHA TITLI ASANA )

अर्ध तितली आसन ( ARDHA TITLI ASANA )

image source : google

यह आसन एक बहुत ही महत्वपूर्ण और आसान आसन है। ये तितली आसन के जैसा ही आसन होता है, परन्तु तितली आसन में दोनों पैरो को मोड़ कर बैठना होता है  और इस आसन में बारी-बारी अलग-अलग पैर को मोड़ना होता है। 

कैसे करे -

सबसे पहले फर्श पर चटाई बिछाकर बैठ जाये।
अपने पैरो को आगे की ओर फैला ले ,दोनों पैरो के बीच थोड़ा फैसला जरूर रखे।
अपनी रीढ़ को बिलकुल सीधा रखे।
अपनी स्वास प्रकिर्या को सामान्य रखे।
फिर अपने एक पैर को उठा कर दूसरे पैर के कूल्हे के पास वाली जांग पर रखे। अगर ऐसा करने में आपको ज्यादा तकलीफ हो रही है तो आप अपने पैर को जांग के पास जमीन पर भी रख सकते है।
और अपने पैर की उंगलियों को पकड़े और धीरे धीरे ऊपर और निचे की तरफ हिलाये।
ऐसे कम से कम 10 से 15 बार करे।
फिर इसी प्रकिर्या को दूसरे पैर से दोहराये।

फायदे -

इस आसन का अभ्यास करने से कमर, आंतरिक जांघों और घुटनों को एक अच्छा खिंचाव मिलता है।
आंत्र और आंतों की गतिविधियों को बढ़ाता है।
बच्चे की प्राकृतिक और स्वस्थ डिलीवरी के लिए गर्भवती महिलाओं के लिए उपयोगी है।
अनियमित मासिक धर्म को नियंत्रित करता है और मासिक धर्म की परेशानी से राहत दिलाने में मददगार है।
निचले अंगों में राहत प्रदान करके लंबे समय तक चलने और खड़े रहने वाले लोगों के लिए फायदेमंद।



अधिक फिटनेस जानकारी प्राप्त करने के लिए सर्च करे-  ohthefitness.com 

Comments