5 ऐसे सूर्य नमस्कार पोज़ जो आपको जरूर करने चाहिए (5 ESSENTIAL POSES OF SURYA NAMASKAR )

5 ऐसे  सूर्य नमस्कार पोज़ जो आपको जरूर करने चाहिए (5 ESSENTIAL POSES OF SURYA NAMASKAR )

IMAGE SOURCE : GOOGLE 


नमस्कार दोस्तों

आज हम जानेंगे की सूर्य नमस्कार क्यों करते है। सूर्य नमस्कार करने से शरीर को बहुत सारे फायदे मिलते है। सूर्य नमस्कार हमे जरूर करना चाहिए।  और आज जानेंगे की सूर्य नमस्कार किस किस पोज़ में कर सकते है।

 सुबह सूर्य नमस्कार क्यों करें?
यह सूर्योदय के दौरान सूर्य नमस्कार को निष्पादित करने के लिए बहुत ही अच्छा होता है और वैसे देखे तो ये एक प्रकार की  विज्ञान है। प्राचीन भारतीय ऋषियों और संतों के अनुसार, देव या दिव्य आवेग हैं जो मानव शरीर के विभिन्न हिस्सों पर शासन करते हैं।

सूर्य नमस्कार आपको यह जानने में मदद कर सकता है कि आपके शरीर के तंत्र के हिस्से के रूप में सूर्य को कैसे आंतरिक किया जाए। बारह मुद्राओं के साथ सूर्य नमस्कार  बारह सूरज चक्रों को आपके भौतिक चक्रों के साथ तालमेल बनाने में मदद कर सकता है।

सौर जाल मानव शरीर का केंद्रीय बिंदु है। यह नाभि के पीछे है और सूर्य से जोड़ता है।  कई योग गुरु सुबह सूर्य नमस्कार के अभ्यास का सुझाव देते हैं। इस पद्धति का लगातार प्रदर्शन सौर जाल को बढ़ावा दे सकता है। नतीजतन, जीवन शक्ति, आत्मविश्वास, सरलता, सहज और मानसिक क्षमताओं में वृद्धि होती है।

5  सूर्य नमस्कार स्टेप्स
अगर आप सुबह सुबह सूर्य  तो इससे आपके शरीर को बहुत अधिक फायदा होता है।  दूसरी ओर, यह बहुत ही आराम और चिंतनशील होता  है।   सूर्य नमस्कार करने से  आपका शरीर निश्चित रूप से स्ट्रेच और लचीला हो जाएगा।

1. प्रार्थना मुद्रा - प्राणासन
IMAGE SOURCE : GOOGLE 

ये सूर्य नमस्कार का सबसे पहला चरण या स्टेप है। इसके लिए हमे  सबसे पहले चटाई बिछानी है और उसके ऊपर सीधा खड़ा हो जाना है। अपनी रीढ़ को को बिलकुल सीधा  रखना है। और  हाथो को आपस में मिला कर अपनी चेस्ट के पास लेकर  है। और अपने हाथो को स्वास लेते हुए ऊपर की ओर लेकर जाये और स्वास को छोड़ते हुए अपने हाथों को चेस्ट के पास लेकर आये। और ऐसे बार बार दोहराये। इस  प्रकार हमारा पहला चरण समाप्त होता है।

2. हस्तोत्तानासन
IMAGE SOURCE : GOOGLE 

ये सूर्य नमस्कार का दूसरा चरण है। इसमें सबसे पहले आपको चटाई बिछानी है। और फिर इसके बाद आपको चटाई पर बिलकुल सीधा खड़ा होना  है। फिर आपको अपने हाथो को ऊपर की और उठाना है और अपने हाथो को खोले रखना है और थोड़ा पीछे की और हल्का सा झुकना है। ये प्रकिर्या आपको स्वास लेते हुए करनी है। और फिर स्वास को छोड़ते हुए वापिस अपने हाथो को निचे लाना है। इस प्रकार सूर्य नमस्कार का दूसरा चरण पूरा होता है।

3. हस्तपादासन 

IMAGE SOURCE : GOOGLE 

ये सूर्य नमस्कार का तीसरा  चरण है। इसमें सबसे पहले आपको चटाई बिछानी है। और फिर इसके बाद आपको चटाई पर सीधा खड़ा   होना है। अपनी रीढ़ को बिलकुल सीधा रखना है। इसमें अपने हाथो को ऊपर उठाना है और फिर आपको आगे की और झुकना है और अपने घुटनो को बिना मोड़े अपने पैर के पंजो को पकड़ना है। ये सारी प्रकिर्या आपको स्वास को लेते हुए और छोड़ते हुए करनी है जसे ही आप अपने हाथो को ऊपर की और लेकर जाते हो तो आपको स्वास लेना है और जब  आप हाथ निचे की और   लाते है तो आपको स्वास को छोड़ना है। इस तरह से सूर्य नमस्कार का तीसरा चरण समाप्त होता है।

4. अश्वारोही मुद्रा - अश्व संचलाना
IMAGE SOURCE : GOOGLE 

ये सूर्य नमस्कार का चौथा  चरण है। इसमें सबसे पहले आपको चटाई बिछानी है। और फिर इसके बाद आपको चटाई पर सीधा खड़ा   होना है। अपनी रीढ़ को बिलकुल सीधा रखना है। फिर आपको अपना एक पैर पीछे की और निकलना है और आपको अपने दूसरे पैर के घुटने को मोड़कर उस पर बैठ जाना है। और अपने दूसरे पैर को बिलकुल सीधा पीछे की और रखना है। जब आप पैर को पीछे की और निकलेगे तो आपको आगे की और अपने हाथो को जमीन पर टच करवान है। और इस प्रकिर्या को बार बार और अलग अलग पैर से दोहराना है। इसमें आपकी स्वास प्रकिर्या साधारण  होनी चाहिए। इस प्रकार सूर्य नमस्कार का का ये चरण हमारा समाप्त होता  है।

5. अष्टांग नमस्कार

IMAGE SOURCE : GOOGLE 
ये सूर्य नमस्कार का पांचवा  चरण है। इसमें सबसे पहले आपको चटाई बिछानी है। और फिर इसके बाद आपको चटाई पर घुटनो के बल बैठ जाना है। फिर आपको   आगे की और सीधा लेट जाना है और अपने शरीर के अगले हिस्से को ऊपर की और उठाना है। और अपने हाथो को जमीन पर टच करवाना है।
फिर अपने हाथो पर सारा वजन डालते हुए पीछे की और जाना है और फिर आगे की और जाना है। इस प्रकार हमारा सूर्य नमस्कार का पांचवा चरण खत्म होता है। ध्यान रखिये की आपकी स्वास प्रकिर्या नार्मल होनी चाहिए।


वैसे तो सूर्य नमस्कार के बहुत सारे  प्रकार है। इसलिए हम बाकि प्रकार आगे के ब्लॉग में देखेंगे।
फिटनेस से रिलेटेड और अधिक जानकारी पाने के लिए सर्च करे -ohthefitness.com

Comments